Vastu Bhagya Darshan

सोते समय कोई अंग आईने में दिखे तो होती है पीड़ा

  • जब सोएं तो ध्यान रखें कि सोते समय शरीर का कोई अंग आईने में दिखाई न दे, अन्यथा उस अंग में पीड़ा हो सकती है। इसलिए इस तरह सोने से बचना चाहिए।
  •  माना जाता है मछलियों के जोड़े को घर में लटकाने से सौभाग्य में वृद्धि होती है। इसके शुभ प्रभाव से घर में संपत्ति में वृद्धि और व्यवसाय और कार्यक्षेत्र में उन्नति होती है।यदि इसे बृहस्पतिवार या शुक्रवार को टांगा जाए तो यह और भी शुभ माना गया है।
  • चीनी वास्तुशास्त्र के अनुसार घर के सदस्यों की दीर्घायु के लिए स्फटिक का बना हुआ एक कछुआ घर में पूर्व दिशा में रखना फायदेमंद होता है।
  • घर के पूर्वोत्तर कोण में तालाब या फव्वारा शुभ होता है। इसके पानी का बहाव घर की ओर होना चाहिए न कि बाहर की ओर।
  • घर को नकारात्मक ऊर्जा से मुक्त रखने के लिए पूर्व दिशा में मिट्टी के एक छोटे से पात्र में नमक भर कर रखें और हर चौबीस घंटे के बाद नमक बदल दें।
  •  बंद घडिय़ों से निकलती है नकारात्मक ऊर्जा घर में जो घडिय़ां बंद पड़ी हों, उन्हें या तो घर से हटा दें या चालू करें
  • अपने ऑफिस में पूर्व दिशा में लकड़ी से बनी ड्रैगन की एक मूर्ति रखें। इससे ऊर्जा एवं उत्साह प्राप्त होगा।
  • घर या दफ्तर में झाड़ू का जब इस्तेमाल न हो रहा हो, तब उसे नजरों के सामने से हटाकर रखें।
  • यदि घर का मुख्य द्वार उत्तर, उत्तर -पश्चि म या पश्चिम में हो तो उसके ऊपर बाहर की तरफ घोड़े की नाल लगा देना चाहिए।
  • कमरों में पूरे फर्श को घेरते हुए कालीन आदि बिछाने से लाभदायक ऊर्जा का प्रवाह रुकता है।
  • फेंगशुई के अनुसार, क्रिस्टल -ट्री का उपयोग घर में सुख-समृद्धि , प्रतिष्ठा व शांति के लिए किया जाता है। रत्नों का पौधा सुनने में भी भले ही काल्पनीक लगे किन्तु वास्तविकता यही है कि चीनी पद्धति में इस पौधे का अधिक महत्व है। यह पौधा तरह -तरह के रत्नों और स्फटिकों का बना होता है। इसमें कई वैरायटीज होती हैं।
  • नवरत्न पेड़ नवग्रहों की शांति, सुख तथा पारिवारिक शांति के लिए उपयोग किया जाता है। एमेथिस्ट का पेड़ दिमाग का संतुलन बनाए रखता है।
  • रंग-बिरंगे रत्नों से सजे इस पौधे को यदि घर के उत्तर-पश्चिम ग -बिरंगे रत्नों से सजे इस पौधे को यदि घर के उत्तर-श्चिम क्षेत्र में रखा जाए तो निश्चित रूप से जीविका चलाने वाले व्यक्ति के सौभाग्य में वृद्धि होती है।

इसे घर में दक्षिण -पूर्व दिशा में भी रखा जा सकता है। इसे व्यवसायिक स्थल पर रखने से संपदा मिलती है। इसे बैठक में भी रखा जा सकता है। इसका एक ओर महत्वपूर्ण कार्य नकारात्मक ऊर्जा को दूर करना भी है।
 पति -पत्‍नी में होता हो झगड़ा तो पढ़ें ये वास्‍तु टिप्‍स
पति -पत्‍नी के रिश्‍तों पर बेडरूम का भी काफी प्रभाव होता है। यदि आपके घर में पति-पत्‍नी के   बीच आये दिन झगड़े होते हैं, तो आपस में प्रेम के रिश्‍ते को बढ़ाने के साथ -साथ अपने बेडरूम के वास्‍तु पर जरूर ध्‍यान दीजिये , कहीं ऐसा तो नहीं आपके बेडरूम का वास्‍तु सही न हो। जी हां आप मानें या नहीं, वास्‍तु के मुताबिक बेडरूम की साज सज्‍जा ही पति -पत्‍नी के बीच के रिश्‍तों की मुधरता तय करती है। चलिये बात अगर बेडरूम की आ ही गई है , तो उसकी साज सज्‍जा पर भी गौर कर ही लेते हैं। यहां हम आपको 10 टिप्‍स देंगे वास्‍तु के नियमों के मुताबिक बेडरूम को कैसे सजाएं। हम जब किसी अपार्टमेंट में फ्लैट खरीदते हैं, तो चाह कर भी वास्‍तु के सारे नियमों के मुताबिक नहीं चल पाते। क्‍योंकि बिल्‍डर अपने मुताबिक बिल्डिंग बनाते हैं, आपके नहीं। तो ऐसे में अगर आप उसी बने हुए रूम को अपने तरीके से सजाएं वो भी वास्‍तु के मुताबिक, तो आपके जीवन में खुशियां हमेशा बनी रहेंगी। यदि आपका बेडरूम अच्‍छा है, तो घर में मानसिक शांति बनी रहेगी और आपकी सेक्‍सुअल लाइफ भी बेहतरीन रहेगी

युगल जोड़ो को विशेषत : डबल गद्दे का उपयोग करना चाहिए सिंगल या दो अलग-अलग गद्दे का प्रयोग करने से बचें। इससे रिश्तों में संमाजस्य बढ़ता है।
हर छह महीने में बेड की चादरें जरूर बदलें
और सिरहाने के कवर का उपयोग बंद कर उन्हें बदल देना चाहिए, क्योंकि सोने वक्त हम में से निकली हुई सब नकारात्मकताओं को ये सोख लेते हैं।
बेडरूम में तेज अथवा बहुत गहरे रंग करवाने से बचें। सुखदायक रंगों को चुनें जैसे हल्का गुलाबी, हल्का हरा, हल्का नीला, लवैंडर इत्यादि। सफेद रंग हमेशा ही सुखदायक शांतिदायक और बेडरूम के माहौल में स्थिरता प्रदान करता है।
बेडरूम की पूर्व-उत्तर दिशा खाली होनी चाहिए। किसी भी भारी फर्नीचर या खाली सामान से भरी हुई न हो और हमेशा श्योर करें कि यह दिशा हमेशा अव्यवस्थिता से मुक्त हो।
उन चित्रों या तस्वीरों का उपयोग करें जिन्हें देखकर हमेशा आपके चेहरे पर मुस्कान आए। दीवार पर जानवरों, आग के दृश्यों, युद्ध के दृश्यों, रिक्त अथवा व्यर्थ स्थानों की तस्वीरें लगाने से बचें, क्योंकि इससे कमरे में नकारात्मकता आती है।
बेडरूम में देवी-देवताओं के चित्र प्रदर्शित न करें इसका कारण यह है की बेडरूम एक निजी जगह है जहां बस सोते हैं, खाते है, पीते हैं और जीवन के विभिन्न सुखों का आनंद लेते हैं तो भगवान के सामने इस तरह की गतिविधियों में शामिल होना अनुचित माना जाता है।
बहुत अधिक इलैक्ट्रॉनिक उपकरणों का होना वास्तु और फेंगशुई के सिद्धातों का उल्लंघन है और काफी हद तक मन की शांति बाधित करते हैं। आधुनिक घरों जहां बेडरूम में एक टीवी का न होना असंभव है, जब टीवी का उपयोग नहीं हो रहा हो तो पूर्णत: उसका स्विच बंद कर दें और उसके नजदिक एक ताजे फूलों का गुलदस्ता रखें और यह श्योर करें कि सुखने पर फूलों को बदलते रहे।

बेडरूम में नकदी के लॉकर को स्थापित करने से बचें। अगर कोई ओर विकल्प नहीं हो तो एक तिजोरी दक्षिण पश्चिम दिशा में रखें, जिससे उसका मुख उत्तर या पूर्व की ओर खुले।
http://theastroguru.com/
https://www.facebook.com/Vedang-Astrology-Research-Center-440344782690991/

दक्षिण -पश्चिम दिशा बेडरूम दक्षिण-पश्चिम दिशा में होना चाहिए और इसी कोने में बेड भी रखना चाहिये। यदि आपने अपना बेड कमरे के दक्षिण-पूर्व दिशा में रखा तो आपको ठीक से नींद नहीं आयेगी , आप तनाव से घिरे रहेंगे, आपको गुस्‍सा जल्‍दी आयेगा और बेचैनी सी बनी रहेगी।

दीवारों पर टूट -फूट नहीं हो बेडरूम की बाहरी दीवारों पर टूट-फूट या दरार नहीं होनी चाहिये। इससे घर में परेशानियां आती हैं।
सीधा प्रभाव आपके जीवन पर यह वो रूम होता है, जहां आप दिन भर के सात से 10 घंटे तक बिताते हैं, यानी इसके वास्‍तु का सीधा प्रभाव आपके जीवन पर पड़ता है।

मकान के मालिक का रूम यानी मास्‍टर बेडरूम मकान के मालिक अगर उत्‍तर -पश्चिम दिशा में स्थित बेडरूम में सेते हैं , तो अस्थिरता बनी रहती है, लिहाजा इस दिशा में घर के मालिक का बेडरूम नहीं होना चाहिए। घर के अन्‍य सदस्‍यों का बेडरूम यहां हो सकता है। इसी बेडरूम को मास्‍टर बेडरूम कहा जाता है।
बेड का सिरहाना बेड का सिरहाना दक्षिण की ओर होना चाहिये। इससे बेचैनी नहीं रहती है और रात में अच्‍छी नींद आती है उसका स्‍वास्‍थ्‍य उत्‍तम रहता है। उत्‍तर की तरफ सिर करके सोने से खराब सपने आते हैं और नींद अच्‍छी नहीं आती और स्‍वास्‍थ्‍य खराब रहता है। वहीं पूर्व की ओर सिर करने से ज्ञान बढ़ता है, जबकि पश्चिम की ओर सिर करके सोने से स्‍वास्‍थ्‍य खराब रहता है।

ऐसी तस्‍वीर मत लगायें बेडरूम में कोई ऐसी तस्‍वीर मत लगायें, जो हिंसा दर्शा रही हो। बेडरूम की दीवार का रंग चटक नहीं होना चाहिये। साथ ही जिस तरफ बेड के सिरहाने वाली दीवार पर घड़ी, फोटो फ्रेम आदि नहीं लगायें, इससे सिर में दर्द बना रहता है। अच्‍छा होगा यदि आप बेड के ठीक सामने वाली दीवार पर कुछ मत लगायें। इससे मन की शांति बनी रहती है।

 

 

 
First Box Image

Donec imperdiet

 

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Maece-nas et lectus aliquam nisi convallis pretium.

Read More

Second Box Image

Donec imperdiet

 

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Maece-nas et lectus aliquam nisi convallis pretium.

Read More

Third Box Image

Donec imperdiet

 

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Maece-nas et lectus aliquam nisi convallis pretium.

Read More

Fourth Box Image

Donec imperdiet

 

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Maece-nas et lectus aliquam nisi convallis pretium.

Read More